थीम चुनें   box box box box    
 
 
 
 
    

तीस हजारी न्यायालय परिसर

प्रांरम्भ में दिल्ली की जिला अदालतें श्रीमती फोर्सटर के घर पर लगती थी, जहां केवल आठ अदालतों को ही स्थान मुहैया कराया गया था। 1899 में एच-अब्दुल रहमान अताउल रहमान बिल्डिंग में कुछ और कमरे किराये पर लिए गए। 1949 में कश्मीरी गेट स्थित पुरानी इमारत को असुरक्षित घोषित कर दिया गया। 1953 में 22 अधिनस्थ दिवानी न्यायालयों को १, स्कीनर्स हाउस स्थित हिंदू कॉलेज की इमारत तथा कश्मीरी गेट में स्थानांतरित कर दिया गया। यह अदालतें 31 मार्च 1958 तक इसी इमारत में चलाई जाती रही।

तीस हजारी न्यायालय भवन का निर्माण कार्य सन् 1953 में आरंभ हुआ। उस समय इसे बनाने में लगभग 85 लाख रूपए का खर्च आया था। 19.03.1958 को इस भवन का उद्घाटन पंजाब उच्च न्यायालय के तत्कालीन मुख्य न्यायाधीश न्यायमूर्ति श्री ए.एन. भंडारी ने किया और इसके बाद सभी दीवानी न्यायलय तथा बहुत से दंड न्यायालय इस भवन में स्थाई रूप से स्थानांतरित कर दिए गए। यद्यपि आज भी तीस हजारी दिल्ली का मुख्य न्यायालय भवन है।

 
पता :
जिला न्यायालय तीस हजारी
दिल्ली 110054
 
दावात्याग
कॉपीराइट © 2013. दिल्ली जिला न्यायालय। सर्वाधिकार सुरक्षित .